मा० अनूप शुक्ला जी - राष्ट्रीय अध्यक्ष | 9792043767 8840418989
हेल्पलाइन : 7081894444

अनूप शुक्ला जी --- प्रदेश अध्यक्ष --- एक परिचय


शिक्षा में बी. कॉम एवं एल एल बी, की डिग्री प्राप्त कर अभिवक्ता होने का गौरव प्राप्त हुआ | सामाजिक संस्थाओ के साथ मिलकर युवाओ और महिलाओ को स्वावलंबी बनाने हेतु जागरूकता अभियान चलाकर उनकी आवाज को निरंतर उठाने हेतु उनके शिक्षा एवं स्वास्थय से जुड़े मुद्दों को आगे लाने का निरंतर प्रयास किया एवं पत्रकारिकता जगत से प्रभावित होकर समाचार पत्र एवं न्यूज़ चैनल में सेवा देकर समाज में बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने हेतु प्रयास किये | रोजगार क्षेत्र में मार्केटिंग की शिक्षा प्राप्त कर बहुत से नवजवान छात्र-छात्राओं को रोजगार के अवसर प्रदान कराने में सफल भूमिका निभाने की और अग्रसर रहे | शिक्षा ग्रहण करने के साथ ही राजनीती में सक्रिय रहे, सन 2002 में यूथ विंग की राजनीति में सक्रिय तथा सन 2004 में व्यापारी शहर एवं जिले स्तर की |
सन 2007 से सन 2012 बीच में व्यापारी हितो के संघर्ष किया तथा साथ ही व्यापारियों जोड़ने के लिए कार्यक्रम एवं सम्मेलम का सफल आयोजन कर व्यापारी एकता के लिए कार्य किये | सन 2010 से सन 2012 के बीच में व्यापार मंडल के माध्यम से उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिलों का दौरा कर व्यापारियों के लिए संघर्ष किये | मण्डल एवं जिला स्तर पर बड़े सम्मेलनों के माध्यम से व्यापारियों मांगो को लेकर सरकार के समक्ष मजबूती से रखा जिसके फलस्वरूप वैट की विसंगतियों से व्यापारियों को राहत दिलाई | उत्तर प्रदेश सरकार के माध्यम से व्यापारियों को वाणिज्यकर सलाहकार समिति, उद्योग बंधू एवं व्यापार बंधु समिति, में सम्मिलित कराने का कार्य किया गया जिससे व्यापारियों को शाशन एवं सरकार के समक्ष होकर स्वतंत्र रूप से अपने कार्यो को कर सके | संगठन में महिलाओ की शिक्षा एवं सुरक्षा से मुद्दों को महत्व देकर उनको व्यापार एवं राजनिति में अहम् भागीदारी के लिए प्रयास जारी है |
मई 2017 में प्रदेश के सभी मण्डलों के व्यापारियों केा लेकर प्रतिनिध उद्योग व्यापारा मण्डल उ. प्र. का व्यापारी नेता मा. अनूप शुक्ला ने गठन किया और प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी सम्भल कार संगठन को दिशा दे कर निरंतर आग्र बड़ा रहे है। माह जून में जी.एस.टी. के विरोध में पूरे प्रदेश के सभी जनपदों में धरने, प्रदर्शन, ज्ञापन के माध्याम से मा. प्रधानमंत्री एवं मा. वित्तमंत्री को संगठन के माध्यम से ज्ञापन भेजा। व्यापार आयोग गठन मण्डी शुल्क की समाप्ति, ब्राण्डेड गल्ले को टैक्स फ्री, ई-वे बिल की समय सीमा बढ़ाने, एफ.डी.आई. की समाप्ति, छोटे दुकानदार, फेरी वाले आदि को दुकान, व्यापारी बीमा दो गुना जैसे राष्ट्रीय एवं प्रादेशिक मुद्दो के साथ व्यापारिक माँगों के लिए संघर्ष जारी रहा। 2017 से मार्च 2018 तक प्रदेश के सभी मण्डलों में सम्मलेन कराए गए तथा पश्चिमी उ.प्र., पूर्वांचल, अवध एवं बुन्देलखण्ड से सम्मेलन कराकर व्यापारियों की माँगों को सरकार तक पहुँचाने का कार्य किया।
समाचार पत्रों एवं चैनलों में निर्भिकता से व्यापारियों की आवाज को उठाने का कार्य किया जिसको समाचार पत्रों एवं चैनलों ने प्रमुखता दी। व्यापारी आयोग गठन एवं जी.एस.टी. सुधारों को लेकर मा. प्रधानमंत्री कार्यालय वाराणसी पर धरना दिया। 8 अप्रैल 2018 को व्यापारियों के अधिकारों की माँगों को लेकर व्यापारी अधिकार रैली मोतीझील मैदान, कानपुर में आयोजित हुई जिसमें लगभग 10 हजार व्यापारियों ने हिस्सा लिया एवं अधिकारो के लिए हुंकार भारी। संगठन में महिलाओं को विशेष महत्व देने के कारण आज संगठान में प्रदेश के 30 जनपदों में मज़बूती से साथ रह कर सीाी कार्यक्रमों एवं आंदोलनों में सक्रियता से हिस्सा ले कर अपनी सहभागिता दे रही है। व्यापारियों को शस्त्र लाइसेन्स दिलाने हेतु सरकार के प्रतिनिधयों एवं शासन-प्रशासन हर स्तर पर प्रयास किया। जिसके फलस्वरूप् सरकार ने व्यापारियों को प्राथमिकता देते हुए शस्त लाइसेन्स पर लगी पाबन्दियों को हटाया। समय-समय पर सरकार के सर्वोच्च पदों पर बैठे प्रतिनिधयों (गृहमंत्री, भारत सरकार, मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री एवं सभी राजनैतिक दलों के प्रमुख प्रतिनिधियों) से मिलकर व्यापारिक माँगों का समर्थक करने की बात कही।
2 दिसम्बर 2018 को व्यापारी अधिकार यात्रा का शुभारम्भ लखनऊ 1090 चैराहे पर हुआ। जिसको हरी झण्डी दिखाकर मुख्यमंत्री कार्यालय, विधानसभा, राज्यपाल आवास, भाजपा, सपा प्रदेश कार्यालय , दारूल साफ, हजरतगंज, परिवर्तन चैक, डालीगंज जैसे प्रमुख मार्गों एवं बाजारां से गुजरा। व्यापारियों ने बड़ी संख्या में व्यापारी अधिकार यात्रा का स्वागत किया। इस यात्रा में हजारों की संख्या में चार परिया वाहनों ने हिस्सा लिया। यात्रा की व्यवस्था में शासन-प्रशासन एवं पैरामिलेट्री फोर्स ने मार्गों की व्यवस्था को सुनिश्चित किया। यात्रा के माध्यम से मा. प्रधानमंत्री, मा. मुख्यमंत्री, मा. वित्तमंत्री को ज्ञापन। व्यापारी अधिकार यात्रा लखनऊ, उन्नाव, कानपुर, औरैया, इटावा, मैनपुरी, आगरा, बस्ती, शाहजहाँपुर, पीलीभीत, ग़ाज़ीपुर होते हुए वाराणसी में सम्पन्न हुई। व्यापारी अधिकार यात्रा के पूर्ण होने पर मा. प्रधानमंत्री जी के कार्यालय से शुभकामनाओं के साथ माँगो को पूर्ण कराने का आश्वासन प्राप्त हुआ एवं व्यापारी एवं कमजोर आय वर्ग की पेंशन पर सरकार ने मोहन लगाई। व्यापारियों एवं महिलाओं के अधिकारों के लिए संघर्ष जारी रहेगा।