मा० अनूप शुक्ला जी - राष्ट्रीय अध्यक्ष | 9792043767 8840418989
हेल्पलाइन : 7081894444
●SPOTLIGHT:

"अनूप शुक्ला जी" --- प्रदेश अध्यक्ष --- एक परिचय

शिक्षा में बी. कॉम एवं एल एल बी, की डिग्री प्राप्त कर अभिवक्ता होने का गौरव प्राप्त हुआ | सामाजिक संस्थाओ के साथ मिलकर युवाओ और महिलाओ को स्वावलंबी बनाने हेतु जागरूकता अभियान चलाकर उनकी आवाज को निरंतर उठाने हेतु उनके शिक्षा एवं स्वास्थय से जुड़े मुद्दों को आगे लाने का निरंतर प्रयास किया एवं पत्रकारिकता जगत से प्रभावित होकर समाचार पत्र एवं न्यूज़ चैनल में सेवा देकर समाज में बढ़ते अपराध पर अंकुश लगाने हेतु प्रयास किये | रोजगार क्षेत्र में मार्केटिंग की शिक्षा प्राप्त कर बहुत से नवजवान छात्र-छात्राओं को रोजगार के अवसर प्रदान कराने में सफल भूमिका निभाने की और अग्रसर रहे | शिक्षा ग्रहण करने के साथ ही राजनीती में सक्रिय रहे, सन 2002 में यूथ विंग की राजनीति में सक्रिय तथा सन 2004 में व्यापारी शहर एवं जिले स्तर की |
सन 2007 से सन 2012 बीच में व्यापारी हितो के संघर्ष किया तथा साथ ही व्यापारियों जोड़ने के लिए कार्यक्रम एवं सम्मेलम का सफल आयोजन कर व्यापारी एकता के लिए कार्य किये | सन 2010 से सन 2012 के बीच में व्यापार मंडल के माध्यम से उत्तर प्रदेश के लगभग सभी जिलों का दौरा कर व्यापारियों के लिए संघर्ष किये | मण्डल एवं जिला स्तर पर बड़े सम्मेलनों के माध्यम से व्यापारियों मांगो को लेकर सरकार के समक्ष मजबूती से रखा जिसके फलस्वरूप वैट की विसंगतियों से व्यापारियों को राहत दिलाई | उत्तर प्रदेश सरकार के माध्यम से व्यापारियों को वाणिज्यकर सलाहकार समिति, उद्योग बंधू एवं व्यापार बंधु समिति, में सम्मिलित कराने का कार्य किया गया जिससे व्यापारियों को शासन एवं सरकार के समक्ष होकर स्वतंत्र रूप से अपने कार्यो को कर सके | संगठन में महिलाओ की शिक्षा एवं सुरक्षा से मुद्दों को महत्व देकर उनको व्यापार एवं राजनिति में अहम् भागीदारी के लिए प्रयास जारी है |

Learn More

व्यापारियों की मांगे

  • मण्डी शुल्क की समाप्ति |
  • ऑनलाइन शॉपिंग पर रोक लगे |
  • जी.एस.टी. के केवल दो टैक्स स्लैब हो |
  • जी.एस.टी. के फार्मो की जटिलता दूर हो |
  • ब्राण्डेड गल्ले को टैक्स फ्री करने की माँग |
  • व्यापार आयोग एवं सरकारी समितियों का गठन | पेट्रोल-डीजल जी.एस.टी. के दायरे में हो |
  • ई-वे बिल की सीमा दो लाख से शुरू हो |
  • एफ.डी.आई. की समाप्ति हो |
  • व्यापारियों की राजनीति में अहम हिस्सेदारी |
  • हस्त निर्मित पीतल के बर्तनों को लघु उद्योग का दर्जा हो |
  • छोटे और मझोले स्तर के व्यापारियों को सरकार से अधिक से अधिक राहत मिले |
  • छोटे दुकानदारो एवं फेरीवालो के विस्थापन के लिए नीति निर्धारण की जाए एवं इनको दुकान दी जाये |
  • महँगाई नियंत्रण के लिए वायदा कारोबार पर रोक लगे |
  • व्यापारी बीमा राशि पच्चीस लाख हो |
  • व्यापार एवं रोजगार में महिलाओ को विशेष महत्त्व मिले |
  • महिला सुरक्षा पर बने कानून में विशेष सुधार एवं बेटियों की शिक्षा निशुल्क हो |

प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मण्डल की मांगो पर मिली सफलताये

  1. जी.एस.टी. की छूट की सीमा 20 लाख से बढ़ाकर 40 लाख की गई |
  2. व्यापारी एवं पत्रकार बंधुओं को शस्त्र लाइसेंस में सरकार द्वारा प्राथमिकता दी गई |
  3. जी.एस.टी. 28% स्लैब समाप्ति की ओर |
  4. जी.एस.टी. की जटिलताओं को सुधार के लिए सरकार द्वारा कुछ प्रभावी कदम उठाए गए एवं जी.एस.टी. में सुधारो के लिए संघर्ष जारी है |
  5. व्यापारी बीमा राशि 10 लाख हुई |
  6. व्यापारी कल्याण बोर्ड का गठन |
  7. सरकार द्वारा व्यापारी पेंशन लागू करने की घोषणा हुई |
  8. व्यापारियों की अन्य माँगो को पूर्ण कराने हेतु सरकार के प्रतिनिधियों से जल्द वार्ता |

PRESS RELEASE

प्रतिनिधि उधोग व्यापार मंडल उत्तर प्रदेश के लखनऊ कैंप कार्यालय हजरतगंज मे व्यापारियों के साथ वार्ता मे प्रदेश अध्यक्ष मा अनूप शुक्ला, बस्ती मंडल प्रभारी अमरेंद्र पांडे, लखनऊ मंडल प्रभारी पी सी गुप्ता, प्रदेश मीडिया प्रभारी राहुल गुप्ता एवं अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे |वार्ता मे जी एस टी पर हुई चर्चा और राहुल गुप्ता एवं पी सी गुप्ता जी ने लखनऊ मंडल का सम्मेलन कराने की बात की


व्यापारी सम्मेलन शाहजहाँपुर | मुख्य अतिथि मा अनूप शुक्ला प्रदेश अध्यक्ष जी का व्यापारियों ज़ोरदार स्वागत |कार्यक्रम आयोजन जिला कमेटी प्रतिनिधि उधोग व्यापार मंडल दिनाकं 04 जून 2017


वाराणसी के पदाधिकारीयों एवं प्रमुख व्यापारी प्रतिनिधियों के साथ बैठक एवं वार्ता |दिनांक 27 मई समय 5 बजे अंपायर होटल गदौलिया वाराणसी


प्रतिनिधि उघोग व्यापार मंडल का सपथ ग्रहण समारोह लखनऊ दिनांक 14.05.2017 मे प्रदेश के सभी जनपदों के पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया।


Our Experience

"Would you like me to give you a formula for success? It's quite simple, really: Double your rate of failure. You are thinking of failure as the enemy of success. But it isn't at all. You can be discouraged by failure or you can learn from it, so go ahead and make mistakes. Make all you can. Because remember that's where you will find success."

What Peoples Says About Us

Say Something About us

We welcome your Questions, reviews, recommendations and suggestions. Your feedback will help us to improve.